Friday 14 May 2010

एक व्यापारी ऐसा भी

---- चुटकी----

हमारी गली में
एक व्यापारी
आता है,
खुशियों के बदले

सबके
गम ले जाता है।
सौदा घाटे का
करता है,
मगर खाते में
मुनाफा दिखाता है,

2 comments:

नीरज जाट जी said...

बडा अजीब व्यापारी है।

Apanatva said...

;)

:)

:).......