Wednesday 7 October 2009

श्रृंगार में उलझी रही

---- चुटकी----

करवा चौथ का
रखा व्रत,
कई सौ रूपये
कर दिए खर्च,
श्रृंगार में
उलझी रही,
घर से भूखा
चला गया मर्द।

1 comment:

शरद कोकास said...

सही व्यंग्य है ।