Wednesday, 14 October, 2009

जो मर्जी हो वो कर

---- चुटकी----

तेरी जो मर्जी हो
वो कर ले चीन,
हमारी ओर से
डोंट वरी
हम तो
बजा रहें हैं बीन।

3 comments:

Udan Tashtari said...

आगे भी बजाते रहेंगे हम बीन...
प्लीज़ चीन, डोन्ट बी सो मीन...

-अपना काम जारी रक्खो, चीन!!

ePandit said...

बजा रहे हैं बीन, देख रहे हैं तमाशा।
चाहे ले जा सिक्किम चाहे अरुणाचल चाहे ल्हासा।

संगीता पुरी said...

बीन तो वो बजा रहे हैं .. यहां भैंस पगुरा रही है !!