Wednesday 20 January 2010

बसंत और पतझड़


तेरा जाना पतझड़
तेरा आना बसंत,
मन एक
कामनाएं अनंत।
----
बसंत से सराबोर
हर उपवन,
पतझड़ सा वीरान
तेरा मेरा मन।

No comments: