Saturday, 9 May, 2009

बेच देंगे अपना अपना जमीर



मशीनों में बंद हो गई
नेताओं की तकदीर,

सब के सब कुर्सी पाने हेतु
कर रहें हैं तदबीर,

सत्ता मिल जाए तो
एक बार फ़िर से
बेच देंगे अपना अपना जमीर।

No comments: