Tuesday 18 August 2009

बिग बी की धमकी,खान के नखरे

ब्लॉगर्स के लिए बड़ा मुश्किल समय आने वाला है। जलजला आ जाएगा। धरती समन्दर बन जायेगी और समन्दर धरती। ऐसा तूफान आने वाला है कि ब्लॉग, इतिहास के किसी कौने में बड़ा कुचला पड़ा होगा। कोई मजाक की बात नहीं है। बिल्कुल सौ प्रतिशत वैसी ही सच्ची जैसी बढती हुई महंगाई।भाजपा में कलह,माया को राहुल की टेंशन,न्यूज़ चैनल पर स्वाइन फ्लू। ऐसा इस लिए होने वाला है कि बिग बी ने ब्लॉग ना लिखने की धमकी दी है। शायद वो ब्लॉग नहीं लिखेंगें तो धरती उलट पलट जायेगी। बिग बी, आपको कहा किसने था ब्लॉग लिखने को। जैसे हमने लिखना शुरू किया आपने भी कर दिया। कर दो लिखना बंद, किसी की सेहत पर क्या फर्क पड़ने वाला है। हाँ, उन फिल्मी पत्र-पत्रिकाओं को थोडी ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी जो आपके ब्लॉग से कुछ लेकर अपना काम चला लिया करते थे। बिग बी कुछ टिप्पणियों से आहात हैं। भाई, फूलों से खेलोगे तो कांटे तो लगेंगें ही। फूलों से मस्ती तो बिग बी करे और कांटे चुभें शाहरुख़ खान के , ऐसे कैसे हो सकता है। मीठा मीठा अहा! कड़वा कड़वा थू। ऐसे तो नहीं चलेगा। आपकी मर्जी ब्लॉग लिखो ना लिखो। बिग बी जी आप ब्लॉग अपनी ठरक के लिए,अपने नाम के लिए लिखते हैं। इस से कोई देश का भला नहीं होने वाला। लिखो, लिखो । ना लिखो,ना लिखो। हमारी बला से।अब बात शाहरुख़ खान की। उनसे पूछ ताछ क्या हो गई जैसे उनकी दुनिया उजड़ गई। वो अमेरिका है। वहां इंसान की हैसियत देख कर कानून को काम में नहीं लिया जाता। कानून के हिसाब से आदमी से बरताव किया जाता है। भारत में आदमी की पोस्ट और हैसियत के अनुसार कानून काम करता है। जितना बड़ा आदमी का कद कानून की पालना में लगे लोग कानून को उतना ही छोटा कर देते हैं। विदेशों में ऐसा नहीं होता तो भारत वालों को तकलीफ होती है। कानून तो वही होता है जो सबके साथ बराबरी से पेश आए। शाहरुख़ खान को अमेरिकी कानून का सम्मान करते हुए सहयोग करना चाहिए था। इस से उनका सम्मान और बढता। बड़ा होना अच्छी बात है,बडापन दिखाना और भी अच्छा। सब जानते हैं कि बड़े तो बस दही में पड़े होते हैं।

1 comment:

vikas vashisth said...

बड़ा भया तो क्या भया जैसे पेड़ खजूर
पंथी को छाया नहीं फल लागे अति दूर